फूलगोभी की 5 उन्नत किस्में। Best 5 Cauliflower Varieties

फूलगोभी की खेती ऐसी खेती है जिससे अच्छी खासी कमाई कर सकते हैं कई किसान तो इसकी खेती करके एक एकड़ से करीब 2 से 4 लाख रूपये तक की कमाई आसानी से करते हैं लेकिन फूलगोभी से अच्छी कमाई करने के लिए कई बातों को ध्यान में रखना बहुत जरुरी होता है.

जिनमें से एक है उसकी अच्छी उपज का होना क्योंकि अगर फूलगोभी की खेती से अच्छी उपज ही नहीं होगी तो आप अधिक कमाई भी नहीं कर सकेंगे और फूलगोभी की अच्छी उपज किस बात पर निर्भर करती है वो निर्भर करती है फूलगोभी की उन्नत किस्मों (Best Cauliflower Varieties) पर तो इसी कारण से आज हम आपके लिए फूलगोभी की ऐसी 5 उन्नत किस्मों की जानकारी लेकर आये हैं जिनको बोकर आप अधिक से अधिक उपज लेकर बहुत ज्यादा कमाई कर सकेंगे.

1. CFL-1522 Cauliflower Seeds

यह Syngenta कंपनी की ओर से आने वाला बीज है जिसके बीज के पौधों का आकार मध्यम आकार का होता है और इसके पौधों की पत्तियां हरी और हल्की नीली रंग की होती हैं और इसके फूलों की बात करें तो इसके फूलों का रंग क्रीमी सफ़ेद होता है जिनका आकार बड़ा होता है और जिनका वजन करीब 500 से 850 ग्राम तक हो जाता है.

CFL-1522 Cauliflower Seeds Sowing Time & Place (बोने का समय और जगह)

अगर आप आप आंध्र प्रदेश, असम, बिहार, छत्तीसगढ़, दिल्ली, गुजरात, हरियाणा, झारखण्ड, कर्नाटक, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, ओडिशा, पंजाब, राजस्थान, पश्चिम बंगाल और त्रिपुरा में से किसी भी जगह पर इस वैरायटी को बोना चाहते हैं तो आप खरीफ के मौसम में इसे आसानी से उगा सकते हैं.

2. Raj Kumari (E.K.) Cauliflower Seeds

यह फूलगोभी की वैरायटी Team Seeds की ओर से आने वाली वैरायटी है जिसके फूलों का रंग सफ़ेद होता है और साथ ही इसके फूल भारी भी होते हैं क्योंकि इनके फूलों का वजन करीब 800 से 1000 ग्राम तक होता है.

Raj Kumari (E.K.) Cauliflower Seeds Sowing Time & Place

इस फूलगोभी की वैरायटी को 15 मई से लेकर 30 जून तक बोया जा सकता है और अगर यह देखें कि इस वैरायटी को किन जगहों पर बोया जा सकता है तो भारत में दक्षिण भारत, कोस्टल बेल्ट और पहाड़ी इलाकों को छोड़कर इसे बाकि सभी अन्य छेत्रों में बोया जा सकता है.

3. NS 555 Cauliflower Seeds

यह फूलगोभी की वैरायटी Namdhari Seeds की ओर से आने वाली वैरायटी है जिसके पौधों की पत्तियों का रंग हरा और हल्का पीला होता है जिसके फूलों का रंग एकदम सफ़ेद होता है और जिसके फूल बड़े आकार के भी होते हैं जिनका वजन करीब 1.5 से 1.75 किलो ग्राम तक होता है.

NS 555 Cauliflower Seeds Sowing Time & Place

इस वैरायटी को बारिश के मौसम के लिए पूरे भारत में अनुकूल माना गया है यानि इसको किसी भी जगह पर बोकर अच्छा उत्पादन लिया जा सकता है.

4. 5 Star Cauliflower Seeds

फूलगोभी की यह वैरायटी Team Seeds की ओर से आने वाली वैरायटी है जिसके फूलों का रंग सफ़ेद होता है और जिसके फूल मध्यम आकार के होते हैं जिनका वजन करीब 500 से 1000 ग्राम तक होता है.

5 Star Cauliflower Seeds Sowing Time & Place

इस फूलगोभी की वैरायटी को मई से जुलाई के बीच बोया जा सकता है और यह वैरायटी भारत में बोकर आप अच्छा उत्पादन ले सकते हैं जिससे आप अधिक कमाई करने में सक्षम हो सकेंगे.

5. Urja Jyotika Cauliflower Seeds

फूलगोभी की यह वैरायटी Urja Seeds की ओर से आने वाली वैरायटी है जिसके फूलों का रंग सफ़ेद होता है इसके फूलों का आकार भी बड़ा होता है जिनका वजन करीब 800 ग्राम से 1500 ग्राम तक होता है इस वैरायटी को ट्रॉपिकल कंडीशन के 35 डिग्री सेल्सियस ताप में भी उगाया जाता है.

Urja Jyotika Cauliflower Seeds Sowing Time & Place

फूलगोभी की इस वैरायटी को उष्णकटिबंधीय से उपोष्णकटिबंधीय तक सभी छेत्रों में आसानी से उगाया जाता है और इसे आप मध्य जून से अगस्त महीने तक आसानी से बो सकते हैं और अच्छा उत्पादन पा सकते हैं.

बुवाई से पहले ध्यान दें

अगर आप फूलगोभी की करने जा रहे हैं तो आपको यह ध्यान में जरूर रखना चाहिए कि आपको एक एकड़ खेत के लिए कितनी मात्रा में बीज की आवश्यकता होगी तो सामान्य तौर पर 150 से 200 ग्राम फूलगोभी का बीज एक एकड़ के लिए पर्याप्त माना जाता है.

इसके साथ ही एक बात और भी ध्यान में रखी जाती है कि इसके बीज के हल्के होने के कारण इसको कभी खेत में सीधे नहीं बोया जाता है फूलगोभी के बीज को पहले पोर्टे या नर्सरी में तैयार कर लिया जाता है उसके बाद तैयार पौधों की खेत में रोपाई करते हैं खेत में रोपाई के करीब 20 से 25 दिन पहले इसके बीजों को नर्सरी या पोट्रे में बो दिया जाता है.

यह भी पढ़ें: फूलगोभी में लगने वाले रोग और उनकी रोकथाम। FOOLGOBHI ME LAGNE WALE ROG AUR UNKI ROKTHAM

निष्कर्ष 

फूलगोभी के बीज का चुनाव करने से पहले अपने क्षेत्र के मौसम, जलवायु और मिट्टी को भी जरूर देख लें और यह भी जरूर देख लें कि वह बीज आपके इलाके की जलवायु के अनुकूल और मौसम के लिए अनुकूल है और इसके बाद ही किसी भी बीज का चुनाव करें.

हमसे सीधे जुड़ने के लिए हमसे व्हाट्सएप पर जुड़ें और खेती से सम्बंधित सभी जानकारियों को सबसे पहले देखने के लिए हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Open chat
1
हैलो
हैलो